Bhu Naksha Jharkhand | Bhulekh Jharkhand 2021 | झारखंड अपना खाता – नकल जमाबंदी खसरा | apna khata नक़ल कैसे डाउनलोड करें

Bhu Naksha jharkhand  | झारखंड अपना खाता–नकल जमाबंदी खसरा | Bhulekh Jharkhand | apna khata नक़ल कैसे डाउनलोड करें | Bhulekh Jharkhand | झारखंड भू नक्शा देखने के लिए क्या करे? | jharkhand bhu naksha | jharkhand bhulekh 

राज्य सरकार द्वारा झारखंड के नागरिकों की सुविधा के लिए अपना खाता (apna khata) नामक एक ऑनलाइन पोर्टल की शुरुआत की गयी है। जिसके माध्यम से राज्य के सभी नागरिक आसानी से अपनी जमीन से जुड़े दस्तवेजों को ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से देख या प्राप्त कर सकतें है। झारखंड सरकार द्वारा शुरू किये गए इस पोर्टल को ई-भूमि (e-bhumi) पोर्टल के नाम से भी जाना जाता है। आज इस लेख के माध्यम से हम आपको Bhulekh Jharkhand से सम्बंधित ऑनलाइन पोर्टल की सम्पूर्ण जानकारी प्रदान कर रहे है। इस लिए हमारे साथ अंत तक बने रहे ,ताकि हम आप तक झारखंड अपना खाता – नकल जमाबंदी खसरा इत्यादि की जानकारी आसानी से पंहुचा सकें।

Bhu Naksha Jharkhand
झारखंड अपना खाता–नकल जमाबंदी खसरा 2021
आर्टिकल भु-नक्शा झारखंड
उद्देश्य भूलेख सम्बंधित  खसरा खतौनी,ऑनलाइन प्रदान करना 
विभाग राजस्व विभाग
लाभार्थी राज्य के नागरिक
आधिकारिक वेबसाइट Click Here

Bhu Naksha Jharkhand 2021

झारखण्ड सरकार द्वारा राज्य के लोगों की सुविधा के लिए  भूलेख सम्बंधित ऑनलाइन पोर्टल की शुरू कर दिया गया है। इस ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से राज्य के सभी नागरिक अपनी जमीन से सम्बंधित जानकारी जैसे खसरा खतौनी, खाता नक़ल, भू-नक्शा आदि को आसानी से प्राप्त कर सकतें है। राज्य सरकार के अपना खाता” ऑनलाइन पोर्टल का उद्देश्य नागरिकों को ऑनलाइन भूमि का ब्योरा प्रदान करना तथा राज्य के लोगों की परेशानी को कम करना है। ताकि लोगों को अपनी जमीन सम्बंधित जानकारी या दस्तावेजों के लिए सरकारी कार्यालयों के चक्कर न काटने पड़े।

Bhulekh Jharkhand के लाभ 

सरकार द्वारा शुरू किये गए भूलेख सम्बंधित ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से लोगों को विभिन्न प्रकार के लाभ प्राप्त होंगे।

  • ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से आप आसानी से भूमि सम्बंधित जानकारी को ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं।
  • ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से लोगों के समय की बचत होगी।
  • झारखण्ड भूलेख ऑनलाइन पोर्टल शुरू होने आप कहीं से भी आपने जमीन से सम्बंधित दस्तावेज आसानी से प्राप्त कर सकतें है।
  • अब आपको न तो पटवारी और न ही राजस्व कार्यालय जाना होगा।
  • ऑनलाइन पोर्टल शुरू होने से जमीन से जुडी कालाबाजारी में कमी आएगी।

Bhu Naksha Jharkhand/ऑनलाइन जमाबंदी नक़ल कैसे डाउनलोड करें?

  • झारखण्ड भूलेख से सम्बंधित किसी भी प्रकार की जानकरी के लिए आपको सबसे पहले आधिकरिक वेबसाइट https://jharbhoomi.nic.in पर जाना होगा।

  • होम पेज खुलने पर आपको ‘अपना खाता ‘ के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।

  • उसके बाद नया पेज खुलने पर आपको अपने जिले का चुनाव करना होगा।
  • जिले का चुनाव करने के बाद आपके सामने ब्लॉक का नक्शा खुलेगा। अब आपको उसमे अपने ब्लॉक का चुनाव करना है।

 

  • नया पेज खुलने के बाद आपको ‘हल्का‘ और ‘किसान जमीन’ के नाम का चयन करना होगा।

 

  • अब आपके सामने एक फॉर्म खुलेगा और फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी को आपको भरना होगा। जैसे खसरा नंबर ,खाता नंबर आदि।
  • भूमि से संबंधित जानकारी के लिए अब आपके सामने कुछ विकल्प के ऑप्शन होंगे। जैसे-
    मौजा के समस्त खातों को नामानुसार देखें
    मौजा के समस्त खातों को खसरा संख्या के अनुसार देखें
    खाता संख्या से देखें:
    खाताधारी के नाम से देखें
  • किसी भी विकल्प का चुनाव करने के पश्चात आपको ‘खाता खोजे’ के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। जिसके बाद आपको जमीन से सम्बंधित सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त हो जाएगी। जिसे आप आसानी से डाउनलोड भी कर सकतें है।

Bhu Naksha Jharkhand/अपना खाता पोर्टल से भू नक्शा ऑनलाइन कैसे देखे?

  • झारखण्ड भू-नक्शा के लिए सबसे पहले आपको -नक्शा की आधकारिक वेबसाइट https://jharbhunaksha.nic.in पर जाना होगा।

  • होम पेज खुलने पर आपको भू-नक्शा से फॉर्म में अपनी जानकरी भरनी होगी।जैसे -जिला, सर्किल, हल्का और मौजे आदि।
  • जानकारी भरने के बाद आपको भू-नक्शा प्राप्त हो जाएगा।

NOTE- हमारी इस वेबसाइट का उद्देश्य आप तक सरकार द्वारा चलाई जा रही सभी योजनाओ की जानकारी पहुँचाना है।अगर आपको ये जानकारी सही लगे तो दूसरो के साथ भी साँझा कीजिये। कोई त्रुटि हो तो हमे जरूर बताए।

झारखंड जमाबंदी नकल क्या है?

इसके माध्यम से आपको भूमि के मालिक तथा भूमि की स्थिति के बारे में जानकारी प्राप्त होती है

झारखंड खसरा खतौनी के लाभ क्या है?

झारखंड खसरा खतौनी के लाभ निम्नलिखित है।
किसान क्रेडिट कार्ड के लिए जरुरी
रजिस्ट्री के लिए,
किसानो से जुडी सरकारी योजनाओं में,
मालिकाना हक का सबूत होता है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!