एमपी खसरा खतौनी नकल 2021 ऑनलाइन चेक करें

एमपी खसरा खतौनी नकल | MP Khasra Khatauni nakal | मध्य प्रदेश खसरा खतौनी की नकल | Khasra Khatauni Copy Madhya Pradesh

खसरा खतौनी भूमि से संबंधित एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है, जो भूमि की खरीद में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। खसरा खतौनी के द्वारा जमीन के मालिक पता लगाया जा सकता है | इसका राजस्व विभाग के पास होता है | आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से आपको एमपी खसरा खतौनी नकल के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान कर रहे है अगर आप खसरा खतौनी की पूर्ण जानकारी लेना चाहते है तो कृपया हमारे इस लेख को अंत तक पढ़े |

एमपी खसरा खतौनी नकल

एमपी खसरा खतौनी नकल 2021

खसरा जमीन रिकॉर्ड की एक श्रेणी होती है जो खसरा नंबर से जानी जाती है इस खसरा नंबर के माध्यम से हम जमीन के धारक का पता कर सकते है | वहीँ खतौनी एक भूमि से संबंधित रिकॉर्ड रजिस्टर है जिसमे प्रत्येक खसरा नंबर के द्वारा जमीन के मालिकाना हक़ का रिकॉर्ड प्रदान किया जाता है। खसरा और खतौनी में अंतर निन्मलिखित है

खसरा

हर भूमि का एक खसरा नंबर होता है जिससे इसकी पहचान होती है। इस नंबर के द्वारा हम किसी भी खास जमीन के बारे में कई महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते है जैसे भूमि का स्वामी कौन है तथा भूमि की लम्बाई चौड़ाई एवं क्षेत्रफल कितना है | खसरा वास्तव में मूल भू अभिलेख होता है जिसपर हर जमीन का एक खसरा नंबर एवं उसका क्षेत्रफल और भी अन्य जानकारी का विवरण होता है |

खसरा का प्रयोग शजरा नाम के एक अन्य दस्तावेज के साथ होता है जिसमे पुरे गांव का नक्शा दिया होता है। इस नक्शे में आप अपने के रिकॉर्ड के साथ साथ गॉंव के दूसरे परिवारों की जमीन का रिकॉर्ड भी देख सकते है और सड़क की भी चौड़ाई देख सकते है हर भूमि का एक खसरा नंबर होता है जिससे इसकी पहचान होती है।

Click Here For :- मध्य प्रदेश भूलेख

खतौनी

खतौनी भारत में कृषि से सम्बंधित जमीन का एक क़ानूनी वार्षिक रजिस्टर या डॉक्यूमेंट होता है। जिसे लैंड रेवेन्यू एक्ट 1951 के धारा 32 बचन बनाम कंकर AIR 1972 SC 2157 :(1972 ) 2 SCC 555 (1973 ), के अंतर्गत तैयार किया जाता है। इसे क़ानूनी दस्तावेज माना जाता है। इसे तैयार करने में पटवारी और काश्तकार दोनों की भूमिका होती है। इसमें किसी व्यक्ति या परिवार के स्वामित्व वाली सभी जमीनों की जानकारी रिकॉर्ड की गयी होती है। ये जमीन के टुकड़े एक साथ भी हो सकते हैं या अलग अलग स्थानों पर भी।

सामान्यतः एक व्यक्ति की एक ही खतौनी होती है किन्तु कभी कभी यह एक से ज्यादा भी हो सकती है। खतौनी वास्तव में किसी व्यक्ति के सभी खसरों की जानकारी देने वाला रजिस्टर होता है। दूसरे शब्दों में कह सकते हैं कि खतौनी किसी गांव में खसरों पर आधारित एक सार है जिसमे उस गांव में किसी व्यक्ति या परिवार की सभी खसरों को यानि जमीनों को सूचीबद्ध किया गया है।
इस तरह से हम देखते हैं कि खतौनी एक सहायक भू अभिलेख होता है जिसमे किसी व्यक्ति के सारे खसरों का एक जगह पर ब्यौरा होता है।

एमपी खसरा खतौनी नकल कैसे प्राप्त करे?

आपको MP Khasra Khatauni nakal प्राप्त करने के लिए निम्नलिखित प्रक्रिया का पालन करना होगा |

  • सबसे पहले, मध्य प्रदेश के भूलेख की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं |
  • अब आपके सामने होम पेज खुलेगा ।
  • होम पेज पर आपको Free Services का ऑप्शन पर क्लिक करना है |
  • नए पेज पर आपको खसरा, बी 1, नक्शा प्रतिलिपि के पर क्लिक करना होगा ।
  • अब आपको कुछ जानकारी जैसे अपने जिला ,तहसील ,पटवारी हल्का , गांव आदि का चयन करना होगा ।
  • इसके बाद भू-स्वामी या खसरा नंबर का चयन करना होगा ।
  • अब स्क्रीन पर दिखाया गया Captcha Code भरना होगा तथा विवरण देखें पर क्लिक करना होगा ।
  • इसके बाद आप खसरा/ बी-1/ नक्शा पर क्लिक करके Print Out ले सकते है|

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!